अजवाइन भी बीमारियों के लिए रामबाण

से ही अजवाइन का हमारे खानपान में एक महत्पूर्ण स्थान रहा है। अजवाइन के नुस्खे न जाने कितनी ही पीढ़ीयों चले आ रहे हैं, जो आज दवाइयों के मुकाबले काफी गुणकारी है और मिनटों में असर दिखाती है। अकेली अजवाइन ही सैकड़ों प्रकार के अन्न को पचा सकती है।अजवाइन के कई ऐसे अनसुने फायदे हैं, जिनसे अभी भी काफी लोग अपरिचित हैं, जैसे-
सर्दी जुकाम में गुणकारी
अजवाइन को दरदरा कूट कर महीन कपड़े में बांधकर सूंघने से सर्दी जुकाम से निजाद पाई जा सकती है। सिर्फ इतना ही नहीं, सर्दी में ठंड लगने पर थोड़ी-सी अजावाइन को अच्छी तरह चबाकर पानी के साथ निगलने से भी ठंड से राहत मिलेती है।
मुंह की दुर्गंध
अजवाइन को पानी में उबाल कर दिन में दो से तीन बार कुल्ला करने पर मुंह की दुर्गंध से छुटकारा पाया जा सकता है।
पेट खराब में लाभकारी
अजवाइन को चबाकर खाने से या गर्म पानी के साथ पीने से पेट खराब जैसी समस्या दूर होती है। पेट में कीड़े होने पर या लीवर की परेशानी होने पर 3 ग्राम अजवाइन और आधा ग्राम नमक भोजन के बाद लेने से काफी राहत मिलती है और पाचन तंत्र में किसी भी तरह की गड़बड़ी होने पर मट्ठे के साथ अजवाइन लेने से भी आराम मिलेता है।

वजन घटाएं
रात में एक चम्मच अजवाइन को एक गिलास पानी में भिगोकर सुबह छान कर एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर नियमित सेवन करने से मोटापा कम होता है। मसूड़ों में सूजन होने पर अजवाइन के तेल की कुछ बूंदों को गुनगुने पानी में डालकर कुल्ला करने से सूजन कम होती है।
जोड़ों के दर्द में लाभदायक
सरसों के तेल में अजवाइन डाल कर गर्म करें और जोड़ों की मालिश करें, इससे जोंड़ो के दर्द में आराम मिलता है।

खांसी में सहायक
अजवाइन के रस में दो चुटकी काला नमक मिलाकर उसका सेवन करने से खांसी से मिजाद पाया जडा सकता है। काली खांसी में जंगली अजवाइन के रस में सिरका और शहद मिलाकर दिन में 2-3 बार एक-एक चम्मच खाने से काली खांसी की समस्या भी दूर होती है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.