इंदु… v/s राहुल की सेना

Entertainment

जिस प्रकार से पूर्व में हमे मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ व सेंसर के बाद अब कांग्रेस भी फिल्म के पीछे हाथ धोकर पड़ गई है. जी हाँ बता दे कि फिल्म के प्रमोशन के एक कार्यक्रम को फिल्मनिर्माता मधुर भंडारकर ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के रोष को देखते हुए रद्द कर दिया था. कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा फिल्म दिखाने की मांग पर फिल्मनिर्माता का कहना है कि फिल्म रिलीज होने से पहले यह अधिकार सिर्फ उनके पास है कि वह किसे फिल्म दिखायेंगे और किसे नहीं. भंडारकर ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ट्वीट करते हुए पूछा है कि क्या वह इस तरह की गुंडागर्दी की अनुमति देते हैं.

मुंबई जाने के दौरान यहां हवाईअड्डे पर उन्होंने बात करते हुए कहा वह सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म में सुझाए गए कट के खिलाफ अपील करने जा रहे हैं. उन्होंने कहा,’ मैं पहले ही कह चुका हूं कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म से कुछ अंश हटाने को कहा है. लेकिन मैंने यह मांग नहीं मानी है और हम इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे और ट्रिब्यनल जाएंगे. फिल्मनिर्माता ने कहा,’ फिल्म दिखाने की मांग गलत है.

मैं फिल्म इंडस्टरी और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में विश्वास करनेवाले लोगों से इस फिल्म का समर्थन करने की अपील करता हूं.’ उन्होंने कहा, वे लोग तीन मिनट का ट्रेलर देखकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं, जबकि फिल्म 70 फीसदी कल्पना और 30 फीसदी किताबों, डॉक्यूमेंटरी और आटर्कल्सि पर आधारित है. बता दे कि, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर की आने वाली फिल्म ‘इंदु सरकार’ 28 जुलाई को रिलीज हो रही है. फिल्म का ट्रेलर रिलीज हो गया है. साल 1975 के आपातकाल की पृष्ठभूमि पर बनी मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ लगातार सुर्खियों में बनी हुई है. हाल ही में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म को रिलीज की अनुमति मिलने से पहले इसे देखने की मांग की थी. तथा इस फिल्म के चलते कांग्रेस पार्टी में खलबली मच गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *