इस खतरनाक बीमारी से बचने के लिए अपनाये यह तरीका

अभी पिछले महीने ही वर्ल्ड पार्किंसन डे मनाया गया है. इस बीमारी की चपेट में आये लोगो के अंगों में बहुत खासा असर पड़ता है. किसी के हाथ-पैर हिलने लगते हैं तो किसी को बोलने में बहुत तकलीफ होने लगती है.पीड़ित व्यक्ति इतना असमर्थ हो जाता है कि वो कुछ भी कर पाने में बहुत ही कठिनाई महसूस करने लग जाता है. आमतौर पर ये बीमारी 60 साल के ऊपर के व्यक्ति को अपनी चपेट में लेती है. आइये जानते हैं कि इस बीमारी का हमारे शरीर पर क्या असर होता है….

क्या होता है इस बीमारी में-

1- शरीर में अकड़न हो जाती है जिससे हाथ-पैर हिलाने में दिक्कत महसूस होने लगती है.

2- इस बीमारी में हाथ-पैरों में कंपन होने लगती है जिसे बीमार कंट्रोल नहीं कर पाता .

3- इसके अलावा शरीर के अन्य हिस्से भी हलचल करने में असमर्थता दिखाने लगते हैं.

4- चेहरे की कांति खो जाती है और मुस्कुराहट गायब हो जाती है, इसके अलावा शरीर झुक जाता है.

इस रोग को ठीक करने में एक्सरसाइज और दवाओं का महत्व-

डॉक्टर्स की माने तो ये रोग लाइलाज नहीं है. अगर थोड़ी एक्सरसाइज, थेरेपी और काउंसलिंग की जाए तो पार्किंसन बीमारी को मात दी जा सकती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.