कैंसर को भी मात दे सकता है नींबू और बेकिंग सोड़ा, जानिए अन्य फायदे

नींबू के लाभ के बारे में तो सभी लोग जानते है और इसका सेवन करने से आप कई तरह की बीमारियों से उबर जाते है। नींबू में भारी मात्रा में विटामिन सी और फाइबर पाया जाता है। बह इसे पीने से आप अपने को दिनभर तरोताजा महसूस करेगें। साथ ही इससे स्फूर्ति बढ़ती है और मौसमी रोगों से बचाता है। नींबू पानी का इस्तेमाल आदि काल से किया जा रहा है। अब तो इसको पीने की सलाह डाक्टर और डाइटिशियन भी देते है।

आप ये बात नहीं जानते होगे कि इसका सेवन करने से आप कैंसर जैसी बीमारी से भी निजात पा सकते है। एक अध्ययन के मुताबिक नींबू में लीमोनॉइड्स फाइटोकेमिकल्स होते है जिनमें कैंसर रोधी गुण मौजूद होते हैं।

नींबू में 12 प्रकार के कैंसर से लड़ने की क्षमता है। कीमोथेरेपी और नारकोटिक प्रोडक्ट की तुलना में नींबू हजार गुणा बेहतर और असरदार पाया गया है और अगर नींबू के साथ बेकिंग सोडा का इस्तेमाल किया जाए तो ये मिश्रण कैंसर के सेल्स पर शक्तिशाली तौर पर असर करता है।

Image result for नींबू

एक अध्ययन में पाया गया कि सोडियम बाई-कॉर्बोनेट (बेकिंग सोडा) ट्यूमर और उसके आसपास की जगह को अल्क्लाइज करता है और मेटास्टेटिस (एक अंग से दूसरे अंग में फैलने) को बढ़ने से रोकता है। एसीडिक इंवॉयरमेंट और कैंसर सेल ग्रोथ के बीच के संबंध का वर्णन पहली बार डॉ ओट्टो वॉरवर्ग ने किया था। 1931 में डॉ वॉरवर्ग को फिजियोलॉजी नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

Image result for नींबू

कैंसर विकल्प फाउंडेशन के अनुसार अल्कलाइजिंग और पीएच थेरेपी अगर ठीक से किया जाए तो 80% की दर से सफलता आंकी गई है।

अगर नींबू में बेकिंग सोडा को मिलाकर सेवन किया जाएं तो ये पेट में एसिड का प्रभाव बी कम करती है। इसके साथ ही आपकी पाचन क्रिया को भी ठीक रकती है। अच्छे रिजल्ट के लिए आप ऑर्गेनिक नींबू का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि ये केमिकल फर्टिलाइजर से मुक्त होते हैं।

Image result for नींबू

ऐसे बनाएं ये ड्रिंक

एक छोटा चम्मच बेकिंग सोडा
एक नींबू का रस
एक कप उबालकर ठण्डा किया हुआ पानी
ऐसे करें इसका सेवन
इन तीनों को मिलाकर मिश्रण बनाएं और एक दिन में 3 बार पिएं। अगर आप अच्छा रिजल्ट चाहते है, तो अपनी डाइट में 80% ताजा सब्जियों और फलों का सेवन करें। जिससे आपके शरीर में pH लेवल बैलेंस्ड रहेगा।
इस बात का जरुर रखें ध्यान-

नींबू औऱ बेकिंग सोडा के इस्तेमाल पर कोई खास रिसर्च नहीं हुई है पर इनके इस्तेमाल से बेहतर परिणाम मिले हैं। इसलिए कैंसर के इलाज में इसके इस्तेमाल को बढ़ावा मिल रहा हैं। साथ ही कोई साइड इफेक्ट न होने के कारण भी आप इसे कैंसर रोगियों पर बेहिचक प्रयोग कर सकते हैं। हालांकि इसके मिश्रण की मात्रा वैज्ञानिक तौर पर तय नहीं की गई है और ना ही नींबू और बेकिंग सोडा की मात्रा तय है इसलिए हर रोगी पर इसका अलग-अलग प्रभाव हो सकता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.