नसीरुद्दीन शाह की आत्मकथा And Then One Day में छिपे हैं उनके जीवन के कई राज

Entertainment

नसीरुद्दीन शाह भारतीय फिल्म उद्योग के ऐसे अभिनेता हैं, जिन्होंने अपने अभिनय से लोगों के दिलों पर अमिट छाप छोड़ी. वे एक शानदार अभिनेता थे, उन्होंने हर तरह की भूमिका निभाई और जिस भी कैरेक्टर को उन्होंने निभाया, लोगों को ऐसा लगा कि यह एक्टिंग नसीर के अलावा और कोई कर ही नहीं सकता था.

उन्होंने निशांत, आक्रोश, स्पर्श, मिर्च-मसाला, मंडी और अर्द्धसत्य जैसी फिल्में की, तो इजाजत, त्रिदेव, मासूम, मोहरा और गुलामी जैसी फिल्में भी कीं. नसीरुद्दीन शाह ने जब अपनी आत्मकथा लिखने की सोची तो वे अकसर अपने विचारों को कागज पर उतारते थे.

जब उन्होंने सौ पेज लिख लिया, तो उसे लेकर वे अपने मित्र इतिहासकार रामचंद्र गुहा के पास पहुंचें, उन्होंने शाह को प्रेरित किया और कहा कि इसे किसी प्रकाशक के पास भेजें और इस तरह शाह की आत्मकथा प्रकाशित हुई. इस आत्मकथा And Then One Day में कई ऐसी बातें हैं, जिनके बारे में लोग कम जानते हैं, जबकि वे उनकी जिंदगी का अहम हिस्सा हैं. इस आत्मकथा की शुरुआत नसीर के बचपन से हुई है और अंत रत्ना पाठक के साथ शादी और बेटी हिबा की वापसी से हुई है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *