नाखून चबाने से होते है यह नुकसान

क्या आप जानते है खतरनाक हो सकती है नाखून चबाने की आदत खासतौर पर जब इंसान तनाव में होता है या नर्वस होता है।जब यह आदत ज्यादा देखने को मिलती है। लेकिन इसके सेहत से जुड़े कई नुकसान हैं
आप अपने हाथों को कितनी बार भी साफ क्यों न करें लेकिन नाखूनों के अंदर गंदगी रह जाती है। नाखून बैक्टीरिया को विकसित होने का वातावरण देते हैं।
नाखून चबाने वाले लोगों में पैरोनिशिया से पीड़ित होने का जोखिम बहुत ज्यादा होता है। पैरोनिशिया एक त्वचा संक्रमण है जो नाखून के आसपास की त्वचा में होता है। लेकिन नाखून चबाने से उनके आसपास की त्वचा की कोशिकाओं को भी नुकसान होता है। इनके जरिए बैक्टीरिया और दूसरे कीटाणु त्वचा में प्रवेश करते हैं।
बहुत ज्यादा नाखून चबाने वाले लोगों में मानव पेपिलोमा वायरस या एचपीवी के कारण संक्रमण फैलने की आशंका बहुत ज्यादा होती है। जिससे नाखूनों पर गांठ बन जाती है। वार्ट्स, एचपीवी के कारण होने वाली त्वचा की समस्या है।
आप को पता है कि नाखून से निकलने वाली गंदगी दांतों को समय के साथ-साथ कमजोर करने लगती है। बहुत ज्यादा नाखून चबाने वाले लोगों में मुंह बंद करने पर ऊपरी और निचले दांतों को एक साथ लाने पर समस्या होती है।
एक शोध के दौरान पाया गया कि 20 से 30 प्रतिशत लोग नाखून चबाते हैं। इस अध्ययन से यह बात भी सामने आई कि जो लोग लंबे समय से नाखून चबाते हैं उन लोगों में अन्य लोगों की तुलना में जीवन स्तर अच्छा नहीं होता है। इसके अलावा अन्य कारक जैसे नाखून चबाने की प्रतिरोध की वजह तनाव का भी जीवन की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव हो सकता है।
अपने हाथों की अच्छे से देखभाल करने से भी नाखून चबाने की आदत को कम किया जा सकता है। इसके लिए आप दो से तीन सप्ताह में एक बार किसी प्रफेशनल से मैनीक्योर करवा सकते हैं। येल यूनिवर्सिटी मेडिकल स्कूल में क्लीनिकल प्रफेसर अंजेलिका कनेर के अनुसार, जब आपके नाखून सुंदर लगते हैं तो आप उन्हें चबाना पसंद नहीं करते।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.