फ़िल्म इंडस्ट्री में लता ताई के 75 साल पूरे

Entertainment

लता मंगेशकर जो के देखा जाए तो किसी भी परिचय की मोहताज नहीं है आज हर कोई उन्हें मानता और जानता है. जी हाँ, मेरी आवाज ही मेरी पहचान है, लगभग छह दशक से अपनी जादुई आवाज के जरिए 20 से अधिक भाषाओं मे 50 हजार से भी ज्यादा गीत गाकर ‘गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड’ में नाम दर्ज करा चुकी संगीत की देवी लता मंगेशकर आज भी श्रोताओ के दिल पर राज कर रही है. लताजी के बारे में हमे पूर्व में यह भी पता चला था कि उन्हें ‘ब्रांड लॉरिअट’ की ओर से ‘लेजन्डरी अवार्ड’ से भी सम्मानित किया गया था.

बता दे की लता ताई ने फ़िल्म इंडस्ट्री में 75 साल पूरे कर लिए हैं. सिर्फ़ 13 साल की उम्र में अपने करियर की शुरुआत करने वाली लता मंगेशकर ने 1942 में मराठी फ़िल्मों में एक्टिंग की थी. ‘किती हासिल’ नाम की मराठी फ़िल्म में उन्होंने मराठी गीत भी गाया था हालांकि गीत को फ़िल्म में शामिल नहीं किया गया, लेकिन गायकी का उनका सफ़र वहीं से शुरू हुआ. अभी हाल ही में बीबीसी के साथ में उनकी हुई एक बातचीत में उन्होंने कहा है कि, “मैं बहुत खुश हूँ कि मेरे 75 साल पूरे हुए. भगवान की कृपा से मैं यहाँ तक पहुँची. बहुत अच्छा लगता है कि इतने लोगों का प्यार मुझे मिला है इन सालों में.”

उन्होंने आगे कहा कि, “मैं बतौर शिष्या बहुत अच्छी थी. मेरे पहले गुरु मेरे पिता थे. शुरुआत में कभी-कभी उनसे डाँट पड़ी, लेकिन उनके बाद जो भी मेरे गुरु रहे उस्ताद अमानत अली ख़ान और फिर अमानत ख़ान जी उन दोनों से मुझे कभी डाँट नहीं पड़ी. इस मामले में मैं बहुत लक्की रही हूँ.” लता मंगेशकर का एक गुरुकुल भी है जहां पर बच्चे संगीत की शिक्षा को ग्रहण करते है व जब लता दीदी से पूछा गया की क्या वह भी गुरुकुल में संगीत की शिक्षा देगी तो उनका कहा था कि, “मुझे लगता है कि मैं किसी को क्या शिक्षा दूंगी. मुझे ख़ुद ही एक गुरु की ज़रूरत हैं.”