रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा नरसंहार के समान, शबाना आजमी

Advertisement

बॉलीवुड की दिग्गज अदाकारा और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी ने कहा है कि म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा नरसंहार के समान है और दुनिया को इसे रोकने के लिए मिलकर काम करना होगा. आपको बता दे कि रोहिंग्या मुसलमानों के साथ विश्वभर में हो रही हिंसा को लेकर भारत में भी चिंतन होने लगा है. रोहिंग्या मुसलमानों को भारत में रहने देने की मांग करने वाली एक याचिका को भारत में भी उथलपथल चल रही है तथा सर्वोच्च न्यायालय ने इस मामले में कहा है कि केंद्र सरकार जवाब दे. दरअसल जो याचिकाऐं दायर की गई हैं वह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एक बड़ा खतरा है. इसे पुनः भेजने की मांग की गई है. गौरतलब है कि म्यांमार में लंबे समय से रोहिंग्या मुसलमान बसे हैं लेकिन अब हिंसक हालातों के चलते वे यहाँ से पलायन करने में लगे हैं. म्यांमार का कहना है कि उसके देश के नागरिकों की सुरक्षा उनके लिए प्रमुख मसला है. इस मसले पर भारतीय फिल्म अभिनेत्री शबाना आजमी ने एक किताब लॉन्च समारोह में जाने माने वैश्विक नागरिकों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों को पत्र लिखकर उनका ध्यान इस समस्या की ओर खींचा है. उन्होंने कहा, ‘‘हमने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को एक लंबा पत्र लिखा है, जिस पर मैंने और अन्य कई कलाकारों ने दस्तखत किए हैं. इतने मुश्किल वक्त में विश्वास पैदा करने की जरूरत है.’’

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.