श्री श्री रविशंकर के कार्यक्रम से यमुना तट को हुआ 13.29 करोड़ का नुकसान

Society

आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर एक बार फिर से  NGT के घेरे में आ गए हैं. एक विशेषज्ञ का कहना है कि उनकी संस्था ऑर्ट ऑफ लिविंग के विश्व सांस्कृतिक महोत्सव के कारण यमुना के डूब क्षेत्र पर बहुत प्रभाव पड़ा है. उनका मानना है कि वो क्षेत्र बुरी तरह से बर्बाद हो गया है. एनजीटी से बात करते हुए उनका कहना है कि इस कार्यक्रम से जो नुकसान हुआ है उसको ठीक करने के लिए लगभग 13.29 करोड़ का खर्च लगेगा.

विशेषज्ञ समिति द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट के मुताबिक बीते वर्ष हुए इस कार्यक्रम के कारण सबसे ज्यादा नुकसान उस क्षेत्र को पहुंचा है जहां उनका बड़ा स्टेज लगा था. रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि इस क्षेत्र को वैसा ही बनाने की जरूरत है जैसी वो इस कार्यक्रम से पहले थी.

बताते चलें कि पिछले वर्ष मार्च में हुए इस कार्यक्रम से पर्यावरण को जो नुकसान हुआ था उसको देखते हुए एनजीटी ने ऑर्ट ऑफ लिविंग पर 5 करोड़ की राशि का जुर्माना लगाया गया था. रिपोर्ट से इस बात की संभावना जताई जा रही है कि एनजीटी इस राशि को बढ़ भी सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *