सड़क किनारे मिलने वाले गन्ने के रस होता है हानिकारक

Advertisement

आजकल घर से दस किलोमीटर के दायरे में गन्ने का रस निकालने वाले की दुकान देखना सामान्य बात हो गयी है।

जो इन गर्मीयों में किसी भी मुसाफिर के लिए एनर्जी ड्रिंक के समान ही है। जिसे पथिक पसंद भी कर रहे हैं। यदि देखें तो पथिकों को गन्ने का रस पसंद होने के पीछे कारण, इसका संतुष्ट दाम (सस्ता) व शुद्धता कही जा सकती है।

लेकिन सड़क किनारे मिलने वाले गन्ने के रस की शुद्धता को मानना सही नहीं है, क्योंकि जिस तरह गन्ने का रस निकाला जाता है उसके लिए दुकानदार किसी भी तरह की शुद्धता के मानक का ध्यान नहीं रखता ।

दुकानदार की ओर से शुद्धता का मानक न अपनाने के कारण, सड़क किनारे मिलने वाला गन्ने का रस सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

जिससे शरीर में कई बीमारियां पनप सकती है। उन बीमारियों के बारे में आप आगे विस्तार से पढ़ सकते हैं।

सड़क किनारे मिलने वाले गन्ने के रस की शुद्धता

1 – सड़क किनारे मिलने वाले गन्ने का रस खुले में मिलता है जिस वजह से आस-पास उड़ने वाली धूल, रस में मिल जाती है और आप डायरिया (अतिसार) की बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं। दरअसल डायरिया होने का कारण, रस का शरीर को सपोर्ट यानि पाचन न होना है। इससे दस्त भी लग सकते हैं।

2 – गर्मी में लोग शरीर में पानी की कमी को संतुलित रखने के लिए जूस का सेवन करते हैं हालांकि सड़क किनारे मिलने वाले गन्ने का रस आपके शरीर में पानी की कमी को पूरा करने की बजाय अन्य बीमारी जैसे उल्टी को न्योता देता है। वह इसलिए कि गन्ने का रस निकालते वक्त धूल के साथ, दुकानकार के ठेले में रखा इंजन चलता है। और उसका सारा धुंआ रस में चला जाता है। जिससे रस में कीटाणु समाहित होते हैं जो रस की शुद्धता को खत्म करने के साथ उसे पीने योग्य नहीं रखते।

3 – देखा जाए गन्ने का रस सेहत के लिए लाभकारी है मगर हाइजेनिक प्लेट यानि शुद्धता का ध्यान न रखने के कारण वह सेहत पर कुप्रभाव छोड़ता है इससे पेट का दर्द भी हो सकता है। कारण खुले में दुकान का चलना ही है। मगर इसके अलावा दुकानदार का हाथों में बिना गलप्स पहने, गन्ने का रस निकालना है जिससे शरीर के बैकटीरिया गन्ने का पचा नहीं पाते और इससे पेट मे दर्द शुरु हो जाता है।

बहरहाल, सड़क किनारे मिलने वाले गन्ने के रस की शुद्धता का पैमाना नापा गया है। जिसमें यह असफल रहा। और इसका सेवन करने से डायरिया, एनिमिया , उल्टी-दस्त जैसी गंभीर बीमारियां सामने आयी हैं। इसके अलावा इस बात पर अधिक जोर दिया है कि बीमार व्यक्ति और गर्भवती महिलाएं गन्ने का रस सेवन न करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.