‘हसीना पारकर’ की श्रद्धा कपूर

Entertainment

 

हां तो जनाब आज एक बार फिर से बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में भाई की बहन का बोलबाला रहा. आज भारतीय सिनेमाघरों में कुख्यात अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर सभी के बीच में रूबरू हुई. बात अगर फिल्म की कहानी के बारे में करे तो अभिनेत्री श्रद्धा कपूर ने भले फिल्म में पूरी ईमानदारी दिखाई हो लेकिन फिल्म में उन्हें कास्ट ही नहीं करना चाहिए था. खासकर बड़ी और परिपक्व हसीना के लिए. ऐसा लगता है मानो वो अपने मुंह में रसगुल्ला लेकर डायलोग बोल रही हो. आपको बता दे की फिल्म की कहानी में बाबरी मस्जिद, हिंदू मुस्लिम दंगे, मुंम्बई ब्लास्ट जैसी कई घटनाओं का ज़िक्र होता है. साथ ही हसीना मुंबई के गोवंडी इलाके में भी अपना दरबार लगाते हुए नजर आती है. जब गैंगवार अपने चरम पर था तो वह लोगों के झगड़े सुलझाती रहीं, कंस्ट्रक्शन बिजनेस में लगी रहीं और बिल्डरों को प्रोटेक्शन देती रहीं. वैसे लगभग 20 साल के कार्यकाल में उन पर सिर्फ एक मुकदमा चला और उसमें भी वह बरी हो गईं. एक सीन में चॉल की नल के पास वो लड़ाई कर रही होती और बिल नहीं जमा करने पर गुंडो की क्लास लगाती हैं तो अगले सीन में उन्हें देखकर ऐसा लगता है कि उन्हें कुछ पता नहीं है. इस तरह से देखा जाए तो अभिनेत्री श्रद्धा कपूर की Movie में ईमानदारी, पूरी तरह से बेईमान साबित रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *