सेक्स करते हुए हटाया कंडोम, हुआ ऐसा हश्र

Advertisement

अभी कुछ समय पहले ही स्विटजरलैंड की एक अदालत के द्वारा सेक्स के दौरान चुपके से कंडोम हटाने के मामले को हल किया गया है. इसका परिणाम सुनाते हुए अदालत ने आरोपी शख्स को रेप के आरोप से बरी कर दिया. स्विस कोर्ट के द्वारा शख्स पर रेप के केस को बदलकर इसे यौन उत्पीड़न कर दिया गया है. दरअसल सेक्स के दौरान बिना अपने पार्टनर की इच्छा के कंडोम को हटाना स्टील्थिंग कहलाता है.

सब इस बारे में सोच रहे थे कि अदालत स्टील्थिंग को रेप मानेगी या नहीं. लेकिन कोर्ट ने मामले में 12 महीने की सस्पेंडेड सेंटंस की सजा को बरक़रार रखा और रेप का आरोप बदलकर यौन उत्पीड़न कर दिया. इसका मतलब है कि आरोपी को तुरंत जेल नहीं जाना होगा लेकिन अगले 12 महीने वह निगरानी में रहेगा. और यदि इस दौरान वह कोई अपराध करता है तो उसे 12 महीने जेल में काटने होंगे.

मामले के बारे में बताते चले कि स्विस ब्रॉडकास्टर के अनुसार यह व्यक्ति पीड़िता से टिंडर डेटिंग प्लैटफॉर्म पर मिला और महिला के घर पर दोनों ने संबंध के लिए हाँ की थी. संबंध बनाने के दौरान पुरुष ने अपनी पार्टनर से कॉन्डम हटाने के लिए कहा था लेकिन महिला ने मना कर दिया. लेकिन उसे बाद में पता चला कि शख्स ने बिना बताए कंडोम हटा दिया है. इसको लेकर महिला ने गुहार की और स्विटजरलैंड के लोज़ैन की क्रिमिनल कोर्ट ने पार्टनर को बिना बताए कंडोम हटाना रेप करने जैसा माना.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*