ग्लोबल साइबर अटैक को लेकर साइबर सुरक्षा एजेंसियों ने कम्प्यूटर उपयोगकर्ताओं को किया सावधान

विश्व भर में तेजी से फैल रहे वनाक्राई रैंसमवेयर की हानिकारक गतिविधियों को लेकर भारत भी चिंतित है। इसीलिए साइबर सुरक्षा एजेंसियों ने देश के सभी कम्प्यूटर उपयोगकर्ताओं को सावधान किया है। उल्लेखनीय है कि भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया दल (सीईआरटी-इन) ने लाल रंग की गंभीर चेतावनी जारी की है। बता दें कि यह हैकिंग से बचाव और भारतीय इंटरनेट डोमेन की साइबर सुरक्षा सुनिश्चित करने वाली नोडल एजेंसी है। रैंसमवेयर के कारण महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के पुलिस विभाग के कंप्यूटरों का भी एक हिस्सा शनिवार को एक ग्लोबल साइबर अटैक का शिकार बनकर आंशिक रूप से प्रभावित हुआ है।

सिस्टम को ठीक करने के लिए साइबर विशेषज्ञों को काम पर लगाया गया है। इसी तरह चेतावनी के बाद गुजरात सरकार ने राज्य के कंप्यूटर सिस्टम को एंटी वायरस सॉफ्टवेयर से लैस करने और माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करना शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि गत दिनों ब्रिटेन के दर्जनों अस्पतालों के कंप्यूटर्स को हैकर्स ने रैंजमवेयर के जरिए हैक कर लिया था। करीब 75 हजार कंप्यूटर्स को निशाना बनाया गया।

वहीं यूरोपियन पुलिस एजेंसी के अनुसार 12 मई को हुए ग्लोबल साइबर अटैक ने कम से कम 150 देशों में लगभग 200,000 कंप्यूटरों को निशाना बनाया।दुनिया के 100 से अधिक देशों में जबरन वसूली के लिए बड़ी संख्या में साइबर हमलों के मामले सामने आए है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.