IPL 10 : जीत के साथ विदा होना चाहेगी दिल्ली और बेंगलोर की टीमें

Sports

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मौजूदा 10वें संस्करण में प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकीं दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की टीमें रविवार को एक दूसरे के खिलाफ उतरेंगी तो उनका लक्ष्य जीत के साथ सत्र से विदा लेना होगा. दोनों टीमें फिरोजशाह कोटला मैदान पर सम्मान की लड़ाई लड़ेंगी. दिल्ली की टीम एक बार फिर इस आईपीएल में अपने प्रदर्शन में निरंतरता नहीं रख पाई. अनुभवी और अच्छे गेंदबाज उसे ज्यादा फायदा नहीं पहुंचा सके

वहीं युवा बल्लेबाजी क्रम में अनुभव की कमी साफ दिखी. हालांकि ऋषभ पंत, श्रेयर अय्यर, संजू सैमसन, करुण नायर जैसे युवा बल्लेबाजों ने उसे कुछ मैचों में जीत जरूर दिलाई. बेंगलोर के खिलाफ होने वाले मैच में दिल्ली की बल्लेबाजी एक बार फिर इन्हीं पर निर्भर करेगी. गेंदबाजी का दारोमदार कप्तान जहीर खान, मोहम्मद शमी, पैट कमिंस, अमित मिश्रा और कोरी एंडरसन के जिम्मे होगा. दूसरी तरफ दिग्गज बल्लेबाजों से सजी बेंगलोर आईपीएल के इस संस्करण को भूलना ही चाहेगी.

कप्तान विराट कोहली, क्रिस गेल, अब्राहम डिविलियर्स और शेन वॉटसन जैसे बल्लेबाजों से लैस बेंगलोर इस सत्र में सिर्फ दो जीत हासिल कर सकी है. दिल्ली के खिलाफ बेंगलोर को उम्मीद होगी की उसके स्टार बल्लेबाज चलेंगे और जीत के साथ टूर्नामेंट से विदाई लेंगे. बेंगलुरू रविवार को अगर दिल्ली के खिलाफ हार जाती है तो आईपीएल के इतिहास में वह दिल्ली और अब भंग हो चुकी डेकन चार्जर्स के बाद सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली तीसरी टीम बन जाएगी. दिल्ली 20014 में सातवें संस्करण में 14 मैचों में सिर्फ दो जीत हासिल कर सकी थी, जबकि 2008 में पहले संस्करण में डेकन चार्जर्स ने भी यही आंकड़ा छुआ था. गेंदबाजी में बेंगलोर इस संस्करण में हमेशा पीछे रहा है. लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को छोड़कर कोई और गेंदबाज उसकी तरफ से प्रभावित नहीं कर सका.