गूंगा बच्चा और बहरा कुत्ता, लेकिन दोस्ती है बेमिसाल

जब हम अपनी जिंदगी से बहुत परेशान हो जाते हैं तो सब कुछ भगवान पर छोड़ देते हैं। या जब किसी समस्या के बाद परिणाम अच्छे आते हैं तो हम यही कहते हैं न कि भगवान जो करता है अच्छा करता है। एक ऐसा ही मामला इस छ: साल के बच्चे कोन्नोर गुलेट के साथ भी हुआ। कोन्नोर बचपन से ही बोलने में असमर्थ था। ये जानते हुए भी की वो कभी भी बोल नही सकेगा उसे किसी ने गोद ले लिया।

बोलने में असमर्थ होने के बावजूद भी कोन्नोर ने एक प्यारे से दोस्त तो दोस्ती कर ली। उसके दोस्त का नाम है एली। एली किसी इंसान का नही बल्कि एक डॉग का नाम है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एली अपने कानों से सुन नही सकता वो बहरा है फिर भी कोन्नोर और एली की दोस्ती सबके लिए एक मिसाल हैं, दरअसल ये दोनों साइन लैंग्वेज में बात करते हैं। कोन्नोर को गोद लेने वाली उसकी मां भी अपने बेटे और एली का पूरा ध्यान रखती है।

ये दोनों दोस्त एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। इन दोनों की दोस्ती की प्यार भरी फोटो सोशल मीडिया पर भी शेयर की गयी हैं। कोन्नोर की मां का कहना है कि एली उनके बेटे से बहुत प्यार करता है। दोनों साइन लैंग्वेज में आपस में खूब बात करते हैं और एक-दूसरे के साथ खेलते हैं।

दोनों के इस प्यार को उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर भी किया है। वो कहती हैं कि शायद ही कोई डॉग मेरे बेटे से इतना प्यार करता जितना एली करता है। मां ने बताया कि एली और कोन्नोर वाकई साइन लैंग्वेज में एक-दूसरे से बात करते हैं। दोनों में एक जुड़ाव है। यही कारण है कि मैं दोनों को एक-दूसरे से दूर नहीं कर पाती।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.