कोहनी और घुटने के ‘डार्क रंग’ से ऐसे पाए निजात

धूप की वजह से हमारे कोहनी की त्वचा का रंग शरीर के बाकी हिस्सों से ज्यादा काला दिखाई देता है। इस आर्टिकल में हम आपको कोहनी, घुटनों के कालेपन से छुटकारा पाने के प्राकृतिक उपचार बता रहे हैं।

नींबू के रस का उपयोग
नींबू के रस में साइट्रिक एसिड होता है। इसे एक प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट माना जाता है। नींबू का रस लगाने से त्वचा का कालापन कम होता है और धीरे-धीरे दूर हो जाता है। नींबू को आधा काटें और दोनों हिस्सों से थोड़ा सा जूस निकाल लें। इसके बाद इसे कोहनी पर लगाएं। इसके अलावा आप नींबू को काटकर सीधे भी अपनी कोहनी पर रगड़ सकते हैं।

कोहनी को दो- तीन घंटे तक नहीं धोए। पर्याप्त वक्त के बाद कुनकुने पानी से कोहनी धो लें। ध्यान रखें अगर नींबू के रस से त्वचा रूखी हो जाती है तो उस जगह आप अपना पसंदीदा मोइश्चुराइजर लगा सकते हैं। ऐसा करने पर कुछ ही हफ्तों में आपको परिवर्तन दिखने लग जाएगा।

मलाई और हल्दी लगाएं
मलाई और हल्दी के मिश्रण से कोहनी के डार्क रंग को हल्का किया जा सकता है। यह एक बेहतरीन प्राकृतिक उपचार है। हल्दी एक प्राकृतिक ब्लीभचग एजेंट है, जो त्वचा में मेलानिन को कम करने में सहायक होता है।

आधे कप बेसन में एक छोटा चम्मच हल्दी और मलाई मिलाकर पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपनी कोहनी पर गोल घुमाते हुए लगाए, फिर पानी से धोकर निकाल लें। यह ध्यान रखें की हल्दी से आपकी त्वचा पर पीला या नारंगी सा रंग आ जाता है, लेकिन ये एक या दो दिन में छूट जाता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.