बालों को झड़ने से कैसे बचाएं ?

गर्मियों में बालों को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत पड़ती है। विशेषज्ञों का कहना है कि नारियल के तेल से सिर और बालों के मसाज और समय-समय पर बालों को नीचे से कटवाते रहना कमजोर और पतले बालों की परेशानी से निजात दिला सकता है।

जानकारों के मुताबिक गर्मी के मौसम में खुद को तरोताजा रखने का सबसे बढिय़ा उपाय पूल में डुबकी लगाना है। लेकिन हम यह भूल जाते हैं कि पूल के पानी में मिला क्लोरीन बालों के लिए नुकसानदायक होता है। इसलिए बालों को क्लोरीन के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए बालों में अच्छी तरह तेल या कंडीशनर लगाकर स्विभमग कैप पहनकर ही पूल में उतरना चाहिए।

पूल में नहाने के बाद हमेशा सादे पानी से बालों को धोना चाहिए न कि शैंपू से। यदि आप नियमित तैराक हैं, तो नियमित रूप से हेयर स्पा कराना आपके बालों के लिए फायदेमंद हो सकता । जिन लोगों के सिर की त्वचा तैलीय होती है, उन्हें कंडीशनर नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि इससे आपके बाल और ज्यादा तैलीय हो जाते हैं। इसके बावजूद यदि आप बालों में कंडीशनर लगाना चाहते हैं, तो जल युक्त कंडीशनर लगाएं, इससे आपके बाल सूर्य की हानिकारक किरणों से सुरक्षित रहेंगे और गर्मियों में तैलीय भी नहीं होंगे।

लों से अतिरिक्त तेल हटाने के लिए आप नींबू के रस से बालों को धो सकती हैं। बालों में एस्ट्रीजेंट का छिडक़ाव कर कंघी करने से बाल तरोताजा और चमकीले लगते हैं। बालों के नीरस और अनाकर्षक होने की समस्या वैसे तो जाड़े के मौसम में होती है, लेकिन गर्मियों में यह समस्या इसलिए बढ़ जाती है, क्योंकि लोग ज्यादा समय अपने घरों के अंदर एयर कंडीशनर में रहते हैं। इसका परिणाम यह होता है कि बाल अपनी नमी खो देते हैं और रूखे एवं कमजोर हो जाते हैं।

इस समस्या से निजात पाने के लिए बालों में सिरम लगाकर कंघी करने और तेल मसाज के बाद भाप लेना चाहिए।
रूखे बालों का मौसम से कोई लेना देना नहीं होता, लेकिन ये पहली ही नजर में आपके पूरे रूप और व्यक्तित्व को खराब करते हैं। रूखे बालों को नारियल के तेल से मसाज करना चाहिए, यदि मसाज के लिए समय न हो, तो पेशेवरों से बालों की टेक्सचरिंग करवाएं। इसके अलावा बालों को सुखाने के लिए ब्लोवर के इस्तेमाल से पहले बालों की जड़ में वोल्युमाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गर्मियों में तेज धूप और उमस से बच पाना लगभग नामुमकिन हो जाता है। ऐसी स्थिति में बालों को कपड़े, बड़ी टोपी या छाते से ढक कर चलना चाहिए।

चिपचिपे बालों से परेशान लोगों को हमेशा ड्राइ शैंपू का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि आप बालों का अतिरिक्त ख्याल रखना चाहते हैं, तो सप्ताह में कम से कम तीन बार अंडे की सफेदी और नींबू के रस को मिलाकर लगाएं और बालों को धो लें। इसके अलावा गर्मियों में शिकाकाई का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

पतले बाल कई लोगों की समस्या का कारण होते हैं। पतले बालों की देखभाल के लिए समय समय पर बालों की नीचे से छंटनी जरूरी है। इससे आपके बालों का घनत्व बढ़ता है और दोमुंहे बालों से छुटकारा मिलता है। पतले बालों को सुलझाले के लिए नर्म दांतों वाली कंघी इस्तेमाल करनी चाहिए। शैंपू के बाद बालों को रगडक़र या झाडक़र नहीं सुखाना चाहिए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.