इमरान खान का दर्द, भारत को खोया सम्मान हासिल करने का मौका

Sports

पूर्व विश्व कप विजेता कप्तान इमरान खान ने कहा है कि पाकिस्तान के पास चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल के जरिए भारत से पहले मैच में मिली हार का बदला चुकता करने का सुनहरा मौका है. इमरान ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल से कहा, “मुझे लगता है कि हमारे पास फाइनल के जरिये खोया सम्मान हासिल करने का सुनहरा मौका है, क्योंकि हम पहला मैच बहुत बुरी तरह से हारे थे.”

उन्होंने कहा, “हम पहले मैच में जिस तरह से हारे, वह बहुत शर्मनाक है. हम उसका बदला ले सकते हैं. पाकिस्तान को विश्व कप 1992 दिलाने वाले कप्तान ने कहा कि पाकिस्तानी टीम को कल गलतियों से सबक लेकर उतरना होगा. उन्होंने कप्तान सरफराज अहमद को सलाह दी है कि वे टॉस जीतने पर भारत को पहले बल्लेबाजी नहीं करने दें. उन्होंने आगे कहा, “भारत के पास बेहतरीन बल्लेबाज हैं और उन्होंने बड़ा स्कोर बना दिया तो हम पर दबाव बन जायेगा. हमें टॉस जीतकर बल्लेबाजी करनी चाहिये क्योंकि गेंदबाजी हमारी ताकत है.”

उन्होंने सरफराज की तारीफ करते हुए कहा, “वह काफी साहसी कप्तान साबित हुआ है और मैं इससे बहुत प्रभावित हूं. वहीं पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने कहा कि चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट की बहाली की शुरूआत होनी चाहिये. उन्होंने कहा, “हमें सियासी मसलों को अलग रखकर एक दूसरे के खिलाफ ज्यादा क्रिकेट खेलनी चाहिये.”