2050 तक भारत में बढ जाएगी बुजुर्गों की संख्या

Society

जनसांख्यिकी बदलाव पर आज जारी पीएफआरडीए की रिपोर्ट से यह बात तय हो गई है कि देश में बुजुर्गों की संख्या बढ़ रही है। आज भले ही भारत को युवाओं को देश कहा जा रहा है, लेकिन धीरे-धीरे वरिष्ठ नागरिकों की संख्या बढ़ेगी और 2050 तक हर पांचवा भारतीय 60 साल से अधिक उम्र का होगा। बता दें कि अभी हर 12 वां भारतीय वरिष्ठ नागरिक है। रिपोर्ट के अनुसार भारत में बुजुर्गों के लिए स्थिति पूरी तरह अनुकूल है।

पीएफआरडीए के अध्यक्ष हेमंत जी कांट्रैक्टर की ‘भारत की वृद्धि के लिए वित्तीय सुरक्षा- अनिवार्यताएं’ नामक रिपोर्ट में कहा गया है कि जनसंख्या की दृष्टि से भारत धीरे धीरे युवा से वृद्धावस्था की ओर जाएगा। जहां 60 साल से अधिक उम्र के लोगों की संख्या जो वर्तमान में 8.9 फीसदी है ,से बढ़कर 2050 में 19.4 फीसदी हो जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार 2050 तक 80 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों की संख्या 0.9 फीसदी से बढ़कर 2.8 फीसदी हो जाएगी।

उल्लेखनीय है कि अध्यक्ष हेमंत जी कांट्रैक्टर ने भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि के लिए पेंशन प्रणाली के संवर्धन एवं विकास को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि यह वृद्धों की बढ़ती संख्या को आय सुरक्षा प्रदान करने और पूंजी बाजार के लिए भी दीर्घकालिक धन जुटाने के दोहरे उद्देश्यों की पूर्ति करती है।रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में कम विकसित पेंशन बाजार का विकास अभी ही शुरू करने की जरूरत है।