राजद नेता प्रभुनाथ सिंह हत्या के दोषी करार

पूर्व सांसद और राजद नेता प्रभुनाथ सिंह को आज हजारीबाग कोर्ट ने बाइस साल पहले विधायक अशोक सिंह की हत्या के मामले में दोषी करार देते हुए सजा सुनाई है. उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. उनके साथ उनके दो सहयोगियों, दीनानाथ सिंह और पूर्व विधायक रितेश सिंह को भी दोषी करार दिया गया है. प्रभुनाथ सिंह को मशरक से विधायक अशोक सिंह की हत्या के मामले में झारखंड के हजारीबाग कोर्ट ने दोषी करार दिया है.

इस मामले में तीनों आरोपियों को 23 मई को सजा सुनाई जाएगी. विधायक अशोक सिंह की हत्या 3 जुलाई 1995 को पटना में उनके सरकारी आवास 5 स्टैण्ड रोड में बम मार कर कर दी गई. उस समय वो आरजेडी के मशरख विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे. हत्या का मुख्य आरोपी प्रभुनाथ सिंह को बनाया गया था. बता दें कि प्रभुनाथ सिंह को हराकर ही अशोक सिंह मशरख से विधायक बने थे.

अशोक सिंह मामले में गिरफ्तार प्रभुनाथ सिंह के छपरा जेल में रहते कानून व्यवस्था बिगड़ रही थी, जिसके चलते उनको हजारीबाग जेल शिफ्ट किया गया. उस समय झारखंड अलग राज्य नहीं बना था. प्रभुनाथ सिंह के आवेदन पर ही हजारीबाग में इस केस का ट्रायल चला और 22 साल के बाद आज बृहस्पतिवार को अदालत ने फैसला सुनाया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.