इसे कहा जाता है वेश्याओं का गाँव

आपने कई बार ऐसी खबरें सुनी, पढ़ी या देखी होंगी जिनपर विश्वास कर पाना थोड़ा मुश्किल हो, लेकिन वह खबरें सच्ची होती है। आज हम भी आपको कुछ ऐसी ही खबर बताने जा रहे हैं जिस पर विश्वास कर पाना तो थोड़ा मुश्किल है लेकिन यह सच है। आपने अपनी जिंदगी में कई गांव देखे होंगे लेकिन आज हम जिन गांवों के बारें में बताने जा रहे हैं उनके बारें में शायद ही आपने पहले सुना हो.

1. महिलाओं का गांव – दुनिया में एक ऐसा भी गांव है जहां सिर्फ महिलाएं ही रहती हैं। इस गांव में किसी पुरुष को आने की इजाजत नहीं है। ये गांव उमोजा है जो केन्या के संभुरू में स्‍थित है। इस गांव में घरेलू हिंसा से लेकर रेप की शिकार महिलाएं रहती हैं। यहां जबर्दस्‍ती खतना की गई महिलाएं भी बसी हुई हैं।

2. लड़कियां इस गांव की रानी हैं – मेघालय में एक छोटा सा गांव है मावलीनांग जहां लड़कियों को रानी माना जाता है। इस गांव में सिर्फ उनका ही राज चलता है। बच्‍चे अपने नाम के आगे पिता नहीं मां का सरनेम लगाते हैं। अगर किसी के घर लड़का हुआ तो उसे बदकिस्‍मत समझा जाता है।

3. गांव जहां लोग निर्वस्‍त्र रहते हैं – स्‍टाइलिश कपड़े पहनना हर किसी को अच्‍छा लगता है। लेकिन एक गांव ऐसा भी है जहां लोग कपड़े ही नहीं पहनते हैं। फिर वह चाहे औरत हो या मर्द। ये गांव है ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर के ब्रिकेटवुड में जिसका नाम है स्पीलप्लाट्ज।

4. गांव जहां लड़की बन जाती है लड़का – डॉमिनिकन रिपब्‍लिक में एक छोटा सा गांव है सलिनास। यहां कुछ अजीब सी घटना होती है। यहां पचास बच्चों में से एक बच्चा ऐसा होता है जो जन्म के वक्त तो लड़की बनकर पैदा होता है पर किशोरावस्‍था तक आते-आते लड़का बन जाता है। ऐसा स्‍यूडोहरमोफ्रोडाइट नामक बीमारी की वजह से होता है। इस बीमारी में बच्चियां पैदा होती हैं तो उनके प्राइवेट पार्ट स्त्रियों वाले लगते हैं। लेकिन किशोरावस्‍था तक आते-आते उसका विकास पुरुषों जैसे हो जाता है।

5. इस गांव में आज तक बच्‍चा ही नहीं पैदा हुआ – मदुरै की सीरूमलै पहाड़ियों में एक गांव है मीनाक्षीपुरम जहां पर आज तक कोई बच्चा पैदा नहीं हुआ है। यहां सभी प्रेग्‍नेंट महिलाएं गर्भधारण के सातवें महीने में गोदभराई की रस्म के बाद पहाड़ छोड़कर मैदानी इलाकों में चली जाती हैं और बच्चे का जन्म होने के बाद ही लौटती हैं।

6. वेश्‍याओं का गांव – गुजरात के बनासकांठा जिले में एक गांव है जिसे वेश्‍याओं के गांव के नाम से जाना जाता है। छह हजार की आबादी वाले इस गांव के परिवार लड़कियों को देह व्‍यापार के लिए विवश करते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.