इस मंदिर में करना है पूजा तो बनना पड़ेगा औरत

Advertisement

भारत एक विशाल देश है यह अनेक प्रकार के रीति-रिवाज़ है। भारत के अंदर कई धर्म के लोग बड़े ही शांति और अमन के साथ रहतें हैं। भारत में एक सबसे बड़ा समुदाय हिंदुओं का है और हिंदू धर्म में पूजापाठ करके भगवान को खुश करना एक बड़ी धार्मिक बात है। भारत में आज कई ऐसे मंदिर हैं जो कई हजार सालों के बने हैं और वहां पर भक्त बड़ी आस्था के साथ जातें हैं और पूजा करके अपने आराध्य देव का आशीर्वाद प्राप्त करतें हैं। एक ऐसा ही मंदिर भारत में है, जहां पर अगर कोई मर्द पूजा करने जाता है तो उसे महिलाओं के कपड़े पहनना पड़ता है, और सोलह श्रृंगार करना पड़ता है।

जी हाँ केरल कोल्लम जिले के कोट्टनकुलंगरा श्रीदेवी मंदिर में देवी मां की पूजा कुछ अलग ही अंदाज में सैकड़ो वर्षो से की जाती हैं। इस मंदिर में पुरुषो को प्रवेश करने के लिए सिर्फ महिलाओं के कपड़े ही नही बल्की उन्हें सोलह श्रृंगार कर के सजधज के जाना पड़ता है। कोट्टनकुलंगरा श्रीदेवी मंदिर में हर साल मार्च के महीने में 23 और 24 तारीख को चाम्याविलक्कू उत्सव मनाया जाता है। इस उत्सव में मर्दों को महिलाओं के कपड़े पहनने के बड़ा पूजा करने का रिवाज आज भी चल रहा है। कहते है ऐसा करने पर माँ का आशीर्वाद पूजा करने वाले को मिलता है।

माँ के आशीर्वाद के कारण इंसान के जीवन में सुख-शांति मिलती है। इस मंदिर के पीछे की मान्यता है की इस मंदिर में माता की मूर्ति अपने आप प्रकट हुई थी। जिसके बाद स्थानीय लोगो ने इस मूर्ति की पूजा करने लगे। आज सैकड़ो साल भले ही बीत गए हो लेकिन लोग बड़े आस्था के साथ इस मंदिर में इस पूजा को बड़े सम्मान से करते हैं। इस मंदिर होने वाली अनोखी पूजा अब पुरे विश्व में प्रसिद्ध हो रही है .

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.