जब रैंप पर उतरी विधवा महिलाए

OMG!

हमारी संस्कृति में अनेक तरह की मान्यताए प्रचलित है. कुछ अच्छी कुछ बुरी. इसी सिलसिले में पति की मौत के बाद महिलाओ को सरे सांसारिक सुख त्याग कर विधवा धर्म का पालन करना पड़ता है. इस परंपरा के खिलाफ काफी समय से विरोध किया जा रहा है. कई एनजीओ इस दिशा में प्रयास कर रहे है.

इस ही एक प्रयास  एनजीओ सुलभ इंटरनेशनल द्वारा किया गया है. जहाँ विधवाओ के लिए फैशन शो आयोजित किया गया. यहाँ वृन्दावन,केदारनाथ, वाराणसी आदि स्थानों की करीब 400 विधवाओं ने रैंप वाक कर एक नयी मिसाल पेश की है. चमकदार मेकअप और लहंगा-चोली पहने 90 साल की एक विधवा ने  छड़ी लेकर रैंप वाक किया. जो आकर्षण का केंद्र थी.

इसी दौरान 33 साल की विधवा उर्मिला तिवारी ने कहा, ‘मैंने जो आज कपड़े पहने हैं, उसे देखें. ऐसे कपड़े मैंने अपनी शादी के दिन भी नहीं पहने थे.’ उन्होंने आगे, ‘विधवाओं से अक्सर कहा जाता है कि वह यह कर सकती हैं या ये नहीं कर सकती हैं. इस कार्यक्रम का आयोजन ऐसी बाधाओं को तोड़ता है. इस मेकअप के जरिए हमारी जिंदगी में रंग भरा गया है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *